जहां सालों तक दी सेवा , वही 7 घंटे स्ट्रेचर में पड़ी रही नर्स की लाश

ग्वालियर। कोरोना महामारी के दौर में स्वास्थ्य कर्मचारी दिन रात मरीजों की देखभाल में लगे हुए हैं. साथ ही इनकी इनके काम को लेकर हर तरफ सराहना भी हो रही है. लेकिन कोरोना संक्रमितों के इलाज में लगे कई स्वास्थ्यकर्मी लगातार कोरोना संक्रमित हो रहे हैं और कईयों की तो संक्रमण से जान भी गई […]

COVID-19
X

ग्वालियर। कोरोना महामारी के दौर में स्वास्थ्य कर्मचारी दिन रात मरीजों की देखभाल में लगे हुए हैं. साथ ही इनकी इनके काम को लेकर हर तरफ सराहना भी हो रही है. लेकिन कोरोना संक्रमितों के इलाज में लगे कई स्वास्थ्यकर्मी लगातार कोरोना संक्रमित हो रहे हैं और कईयों की तो संक्रमण से जान भी गई है

. इसी कड़ी में ग्वालियर के मुरार जिला अस्पताल की एक महिला नर्स की कोरोना से मौत हो गई थीस जिसके बाद उसका शव जिला अस्पताल के बाहर करीब 7 घंटे तक स्ट्रक्चर पर पड़ा रहा. आलम यह था कि वहां मौजूद कोई भी उसकी लाश को हाथ लगाने के लिए तैयार नहीं हुआ.महिला नर्स मंगला 2 दिन पहले कोरोना संक्रमित हुई थी,

जिसके बाद उसने दम तोड़ दिया था, मृतक नर्स का परिवार इंदौर में रहता है और उसका बेटा भी संक्रमित है. वह इंदौर की अस्पताल में भर्ती है. महिला नर्स प्रसूति विभाग में चतुर्थ श्रेणी की कर्मचारी है. जब उसकी तबीयत बिगड़ी तो उसके पड़ोसी उसे मुरार जिला अस्पताल में लेकर पहुंचे थे.

Tags:
Next Story
Share it