पहुंच गई है गिनती हजारो मे, इसे लाख मत होने दो

चीखती आवाजें की आप सभी से विनम्र अपील कोई क़िस्त है जो अदा नहीं है साँस बाक़ी है और हवा नहीं है नसीहतें, सलाहें, हिदायतें तमाम प्रिस्क्रिप्शन है पर दवा नहीं है आँख भी ढक लीजिये संग मुँह के मंज़र सचमुच अच्छा नहीं है रक्त बिका, पानी बिका, आज बिक रही है हवा कुदरत का […]

चीखती आवाजें
X

चीखती आवाजें की आप सभी से विनम्र अपील

चीखती आवाजें
चीखती आवाजें cheekhti Awazen

कोई क़िस्त है जो अदा नहीं है
साँस बाक़ी है और हवा नहीं है

नसीहतें, सलाहें, हिदायतें तमाम
प्रिस्क्रिप्शन है पर दवा नहीं है

आँख भी ढक लीजिये संग मुँह के
मंज़र सचमुच अच्छा नहीं है

क्त बिका, पानी बिका, आज बिक रही है हवा
कुदरत का ये तमाचा बेवजह नहीं है

हरेक शामिल है इस गुनाह में
क़ुसूर किसी एक का नहीं है

वक्त है अब भी ठहर जाओ
वक्त है अब भी ठहर जाओ

अभी सब कुछ लुटा नहीं है।

पहुंच गई है गिनती हजारो मे,
इसे लाख मत होने दो!
रूक जाओ अपने घरो मे,
बतन को राख मत होने दो!!

नेहा और पवन की प्रेम कहानी का दुखद अंत , पवन की मौत के बाद नेहा ने लगाई फांसी

Tags:
Next Story
Share it