लालची अस्पताल संचालकों पर प्रशासन का शिकंजा

कलेक्टर को शिकायत मिली थी कि कुछ अस्पताल मरीजों से ज्यादा फीस वसूल कर रहे हैं जिससे कलेक्टर ने भोपाल में मरीजों के परिवारों को लगभग 18 लाख रुपए की राशि वापस कराई गई है. भोपाल। कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर सभी SDM ने अपने क्षेत्रों में कोविड अस्पतालों पर कर्रवाई की है. 10 […]

bhopal news
X

कलेक्टर को शिकायत मिली थी कि कुछ अस्पताल मरीजों से ज्यादा फीस वसूल कर रहे हैं जिससे कलेक्टर ने भोपाल में मरीजों के परिवारों को लगभग 18 लाख रुपए की राशि वापस कराई गई है.

भोपाल। कलेक्टर अविनाश लवानिया के निर्देश पर सभी SDM ने अपने क्षेत्रों में कोविड अस्पतालों पर कर्रवाई की है. 10 से ज्यादा परिवारों को उनके मरीजों के इलाज में ली गई अधिक राशि को वापस कराया है.

भोपाल कलेक्टर लवानिया ने सभी अस्पताल संचालकों को सख्त निर्देश दिए हैं, कि अगर अधिक बिल लेने की शिकायतें लगातार मिलती है तो अस्पताल संचालकों और अस्पताल प्रबंधक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा की अभी आपदा का समय है सभी अस्पताल जायज बिल ही मरीजों से ले ,नहीं तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई शुरू की जाएगी.

लालची अस्पतालों पर प्रशासन का शिकंजा

bhopal covid news
bhopal news

लोगों की शिकायतों के बाद कलेक्टर ने की कार्रवाई

भोपाल कलेक्टर की कार्रवाई एमपी नगर SDM विनीत तिवारी ने शोभा मालवीय मरीज के परिजनों की शिकायत पर की कार्यवाही परिजनों की शिकायत थी कि उनका पेशेंट 15 अप्रैल से गौतम नगर के निजी अस्पताल में कोराना से पीड़ित होकर भर्ती हैं. मरीज लंबे समय से ICU में भर्ती रहा और उसे आक्सीजन सर्पोट पर भी रखा गया. मरीज के परिजनों का अरोप है

अस्पताल प्रबंधन ने उनके खुद से ऑक्सीजन की व्यवस्था करने पर भी मरीज से 4.50 लााख आक्सीजन की मांग के साथ कुल 12 लाख रूपए की मांग की जा रही है. जबकि सही राशि मात्र 6.00 लाख ही है.जिला कलेक्टर ने इस पर तुरंत कार्रवाई के आदेश दिए. अस्पताल में तुरंत कार्रवाई कर पक्षों को सुना और उनके दिखाए गए बिल के अवलोकन के बाद मरीज से वसूल की जा रही 6.00 लाख रूपए की राशि कम करवाई.

कलेक्टर ने अस्पताल प्रबंधन और डॉ. गुप्ता को भविष्य में कोरोना की महामारी की इस विपरीत परिस्थिति में निर्धारित राशि से ज्यादा रास नहीं ले नहीं तो कठोर कार्रवाई के लिए तैयार रहने को कहा है.

जलती चिताओं पर राजनैतिक रोटियां सेंकने वाले भाजपाईयों के खिलाफ दर्ज हो एफआईआर :- सिद्धार्थ

5G नेटवर्क और कोरोना को लेकर WHO ने दी जानकारी

एसडीएम ने वापस करवाई राशि

कोलार SDM क्षितिज शर्मा ने मरीज धर्मेंद्र चौहान के बिल की राशि 1 लाख 28 हजार 265 रुपए थी, जिसे शिकायत मिलने पर 75000 रुपए कम करवाया गया. मरीज शांति का 95 हजार रुपए का बिल माफ करवाया गया. सोनू बैरागी से शिकायत मिलने पर 2.5 लॉक रुपए का बिल माफ करवाया गया और शव को परिजनों को सुपुर्द करवाई गई.

इसी तरह बन्ने सिंह यादव अस्पताल रुद्राक्ष हॉस्पिटल कोलार शिकायत प्राप्त होने पर 65 हजार रुपए का बिल कम करवाया गया और नॉन कोविड डेड बॉडी परिजनों के सुपुर्द कार्रवाई की गई.इस कार्रवाई के साथ-साथ हॉस्पिटल प्रबंधन को हिदायत दी गई कि आगे से ऐसा कुछ न किया जाए. अगर आगे से ऐसा होता है तो सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहें

Tags:
Next Story
Share it