कोरोन के बाद ब्लैक फंगस का कहर ,बुजुर्ग महिला की निकालनी पड़ी आँख

कोविड-19 से ठीक होने के बाद लोगों को अब फंगल इनफेक्शन Fungal infection का डर सता रहा है स्वास्थ्य विभाग के लिए भी अब इन मरीजों का इलाज करना बड़ी चुनौती बन गया है भोपाल के हमीदिया अस्पताल में फंगल इंफेक्शन के 6 मरीज आए इसके साथ ही खंडवा में रहने वाली 65 साल की […]

Fungal infection
X

कोविड-19 से ठीक होने के बाद लोगों को अब फंगल इनफेक्शन Fungal infection का डर सता रहा है स्वास्थ्य विभाग के लिए भी अब इन मरीजों का इलाज करना बड़ी चुनौती बन गया है भोपाल के हमीदिया अस्पताल में फंगल इंफेक्शन के 6 मरीज आए इसके साथ ही खंडवा में रहने वाली 65 साल की बुजुर्ग महिला की आंख भी निकालनी पड़ी डॉक्टर स्मिता सोनी के मुताबिक महिला को डायबिटीज की शिकायत थी और कुछ सप्ताह पहले ही उन्हें इसका पता चला जांच के बाद उनकी नाक से ब्लैक फंगस को निकाला गया था

लेकिन लेकिन इसके बाद ही उनकी आंखों में भी ब्लैक फंगस मिला जिसकी वजह से उनकी आंखें सूज गई और बाद में आंख को निकालना पड़ा फिलहाल डॉक्टरों का कहना है कि महिला की हालत स्थिर बनी हुई है

डॉक्टरों ने बताया कि अभी ब्लैक फंगस से पीड़ित 4 मरीजों का ऑपरेशन इस हफ्ते में किया जाना है भोपाल की एम्स अस्पताल में भर्ती 54 वर्षी मरीज को ब्लैक फंगस की वजह से संक्रमित 9 दांत और ऊपर और नीचे के जबड़े की सर्जरी करनी पड़ी ब्लैक फंगस के मामले आए दिन बढ़ते जा रहे हैं

शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने के घरेलु उपाय

मऊगंज में ताबडतोड कार्यवाही,तीन दुकानदारो पर की गई चलानी कार्यवाही

डॉक्टरों का कहना है कि एंडोस्कोप की मदद से रोका जा सकता है

डॉ स्मिता सोनी के मुताबिक ब्लैक फंगस को नाक की एंडोस्कोपी कर पहचान कर रोका जा सकता है
इसे शुरू के दो-तीन महीने में नियंत्रण किया जा सकता है

Tags:
Next Story
Share it