DRDO की दवा को सरकार ने दी मंजूरी , इस दवा से जल्द रिकवर होते है मरीज

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में में एक और हथियार सामने आया है DCGI (ड्रग कन्ट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया) ने कोरोना के इलाज में (2-DC) दवा को शामिल करने का इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया है जिन मरीजों पर इस दवा का ट्रायल किया गया था उनकी RT-PCR रिपोर्ट नेगेटिव आई है और इस दवा से मरीज […]

DRDO-2-DC
X

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में में एक और हथियार सामने आया है DCGI (ड्रग कन्ट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया) ने कोरोना के इलाज में (2-DC) दवा को शामिल करने का इमरजेंसी अप्रूवल दे दिया है जिन मरीजों पर इस दवा का ट्रायल किया गया था उनकी RT-PCR रिपोर्ट नेगेटिव आई है और इस दवा से मरीज जल्दी ठीक हो रहे हैं

यह दवा कोरोना संक्रमण की ग्रोथ को रोक देती है 2-DG दवा को DRDO की लैब इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूक्लियर मेडिसिन ने डॉ रेड्डीज लेबोरेटरी की सहायता से तैयार किया गया है कहा यह भी जा रहा है कि इससे मरीज की ऑक्सीजन लेवल में काफी सुधार होता है और ऑक्सीजन की कमी जल्द पूरी हो जाती है

COVID-19
COVID-19

110 मरीजों पर किया गया दूसरे फेज का ट्रायल

DGCI ने 2020 मई में कोरोना मरीजों पर इसके दूसरे फेज का ट्रायल शुरू किया था अक्टूबर 2020 तक चले इस ट्रायल में इस दवा को पूर्ण तह सुरक्षित पाया गया और देखा गया कि इससे मरीज जल्दी रिकवर हो रहे हैं इस ट्रायल में 17 अस्पतालों के 110 मरीज शामिल हुए थे

यह भी पढ़िए —

देश में स्पुतनिक-V की डिलीवरी शुरू आइये जानते है क्या है कीमत

आइये जानते है ब्लैक फंगस से कैसे बच सकते है

तीसरे फेज के ट्रायल में शामिल हुए 20 मरीज

दिसंबर 2020 से मार्च 2021 तक तीसरे फेज का ट्रायल शुरू किया गया यह ट्रायल विभिन्न राज्यों के 27 अस्पतालों में किया गया और पाया गया कि इससे ऑक्सीजन लेवल में सुधार हो रहा है 65 साल से ज्यादा की उम्र पार करने वाले मरीजों पर भी इस दवा का अच्छा रिस्पांस दिखाई दिया

आइए जानते हैं कैसे उपयोग में ली जाती है दवा

यह दवा पाउडर के रूप में मिलती है और मरीज को पानी में घोलकर इस दवा को पिलाना होता है यह दवा सीधे उन कोशिकाओं में पहुंचती है जहां संक्रमण होता है और वायरस की वृद्धि को रोकती है डीआरडीओ ने अपने बयान में कहा कि इसका उत्पादन भारी मात्रा में आसानी से किया जा सकता है

Tags:
Next Story
Share it